पड़ोसन बनी दुल्हन-23

औरत को समझना मुश्किल तोह होता है लेकिन इतना मुश्किल भी नहीं, अब मेरी भाभी भी सेठी साहब के प्रति उत्तेजना दिखा रही थी जो मुझे समझ आ रहा था।