मेरी बीवी ने बाॅस को रंडी बनके खुश किया-2

दोस्तों नमस्कार। आपने मेरी बीवी की चुदाई स्टोरी पढ़ी होगी, तो आपको पता होगा, कि मेरे बाॅस ने मेरी बीवी के जन्मदिन के दिन, पूरी रात उसकी चुदाई की थी।

दोस्तों उस रात चुदाई के बाद जब मैं सुबह रूम में गया, तो मैंने देखा, कि मेरी बीवी नंगी बाॅस की बाहों मैं सोई हुई थी। मैंने उन्हें जगाया, तो बॉस बोले-

बाॅस: अनुज थोड़ी देर सोने दे यार, संजना को मेरी बाहों में।

संजना शर्मा कर मेरी तरफ नहीं देख रही थी।

फिर मैं बोला: ओके बाॅस, आप सोईये मेरी बीवी के साथ, मैं आप दोनों के लिए चाय बना कर लाता हूं।

फिर मैं किचन में गया, चाय बनाई और चाय बना कर लाया। बाॅस संजना के साथ बैठ कर चाय पीने लगे। संजना उस समय भी नंगी ही बाॅस के पास बैठी थी।

बाॅस बोले: अनुज सीधा यहीं से साथ निकल लेते है कम्पनी में।

मैंने बोला: ठीक है बाॅस।

अब हम दोनों फ्रैश हुए, नहाए और तैयार हुए। संजना ने नंगे रह कर ही हम लोगों के लिए नाश्ता बनाया। हम लोगों ने नाश्ता किया और चल दिये। जाते-जाते मेरे बाॅस ने मेरी बीवी की चूत पे चुम्मा लिया और बोले-

बाॅस: बहुत जल्दी फिर मिलूंगा।

फिर हम नीचे आये, बाॅस की कार मैं बैठे और चल दिये। ऑफिस की तरफ लगभग 1 घन्टे का रास्ता है मेरे फ्लैट से। कुछ देर तो मैं चुप रहा, फिर कुछ देर खामोशी के बाद बाॅस बोले-

बाॅस: अनुज सॉरी यार! तुम्हारी बीवी है ही इतनी हॉट और सुंदर, कि मुझसे रहा नहीं गया। लेकिन अनुज टेंशन ना लो, तुम्हारी बीवी की चूत के बदले मैं तुम्हे प्रोमोशन दिलाऊंगा।

ये सुन कर मैं खुश हो गया और बोला-

मैं: बाॅस कोई नहीं, जवानी में होता है। आपने मेरी बीवी चोद ली, तो कौन सा मेरी बीवी की चूत घिस गई।

बाॅस बोले: अनुज जो मेरे बाॅस है राज सर, तुम उन्हें जानते हो ना?

मैं बोला: हाँ जनता हूं और मिला भी हूं सर।

वो बोले: वो एक नम्बर के अय्याश है। क्यों ना तुम अपनी बीवी को एक रात के लिए उनके पास भेजो। इससे तुम्हारा भी प्रोमोशन होगा और पैसा भी मिलेगा, और मेरा भी प्रोमोशन हो जाएगा।

मैं बोला: बाॅस संजना नहीं मानेगी।

वो बोले: मानेगी क्यों नहीं, रात देखा नहीं, एक चेन में ही पूरी रात मेरी रंडी की तरह सोई थी। अगर बाॅस को पसंद आ गई, तो उससे भी ज्यादा देंगे।

अब हम ऑफिस की तफर पहुच गए थे। मैं भी अपने ऑफिस में पहुचा। दिन भर काम करने के बाद, शाम को बाॅस ने मुझे अपने केबिन में बुलाया। मैं उनके केबिन में पहुंचा, तो देखा राज सर बैठे थे। फिर मैंने उन्हें नमस्ते की।

राज सर बोले: अरे अनुज तुम हमारी ऑफिस के सबसे मेहनती कर्मचारी हो। मैंने सुना कल तुम्हारी बीवी का जन्मदिन था?

मैंने बोला: हांजी सर।

तो वो बोले: तुमने बताया नहीं?

ये सुन कर मैं शर्मा गया। फिर वो बोले-

राज सर: अरे अनुज, शर्माओ मत यार, आज तुम अपनी बीवी को लेकर होटल पहुँचो। आज हम लोग तुम्हरी बीवी का जन्मदिन मनाएंगे और हां, जाते-जाते तुम उस शॉप से लहँगा उठा लेना और मेरा नाम बोलना, वो तुम्हें दे देगा।

फिर मैं ऑफिस से निकला। मुझे मन ही मन खुशी हो रही थी, कि आज मेरी बीवी बाॅस के बाॅस से चुदेगी और आज रात उनकी रांड बनेगी। मैं घर पहुँचा और कॉफी पी और संजना को सारी बात बताई। संजना को थोड़ी मन ही मन खुशी हुई, लेकिन मेरे को दिखाने के लिए वो थोड़ी उदास हुई। लेकिन जब मैंने समझाया, तो वो समझ गई।

मैं बोला: चलो चलते है।

वो बोली: रुको मुझे तैयार होने दो।

मैं बोला: राज सर ने सारा इंतज़ाम कर रखा है, तुम चलो तो सही।

फिर हम घर लोग घर के चल दिये। नीचे आये तो देखा, कि बाॅस ने कार भेज रखी थी। तभी ड्राईवर बोला-

ड्राईवर: राज सर ने आपके लिए कार भेजी है।

हम कार में बैठे और चल दिये। ड्राईवर ने गाड़ी शहर के सबसे बड़े ब्यूटीपार्लर के सामने रोकी और बोला-

ड्राईवर: मैडम जाईये, और राज सर का नाम बता दीजियेगा। आपको वो तैयार कर देगी।

मेरी बीवी गई और लगभग 1.5 घंटे के बाद आई। दुलहन की तरह सज-धज कर मेरी बीवी बहुत खुश थी। मैं मन ही मन सोच रहा था, कि अभी सजी हो और कुछ देर बाद बजोगी। अब हम होटल की तरफ चल दिये और कुछ देर बाद जब होटल पहुंचे तो देखा, कि मेरी बीवी का फ़ोटो लगा हुआ था। उस पर लिखा था “हैप्पी बर्थडे संजना डार्लिंग”

मेरी बीवी वो देख कर खुश हु गई। अब हम लोग अंदर गए। मैंने अपनी बीवी का राज सर से परिचय कराया, कि –

मैं: ये हमारी कम्पनी के एम.डी. सर है। इन्होंने ही ये पार्टी दी है और तुम्हें ये सब दिया है।

संजना ने उन्हें नमस्ते की और राज सर ने मेरी बीवी को अपने पास बुलाया और मेरी बीवी की कमर में हाथ डाल के बोले-

राज सर: अबे अनुज, संजना जैसी हसीन और खूबसूरत लड़की तो मेरे पास होनी चाहिये। यार तूने कहा से इसको मार लिया?

मैं बोल: सर आज ये आप की ही है।

सर बोले: हाँ पता है, तभी तो दुल्हन की तरह सजाया है। आज मैं इसे अपनी रंडी और पर्सनल रखेल बनाऊंगा।

मैं बोल: कोई नहीं सर, ये मेरी खुश नसीबी है, जो आप मेरी बीवी को अपनी रखेल बनाओगे।

फिर राज सर ने वेटर को बुलाया और बोले-

राज सर: केक लाओ।

फिर केक आया और केक पर संजना की तस्वीर बनी हुई थी और केक भी 10 पोंड का होगा। हमने केक काटा और फिर शुरू हुई हमारी पार्टी। मैंने देखा, कि वहां होटल की भी 4-5 रंडियां आई थी।

फिर राज सर बोले: अनुज और अमन, तुम दोनों इन रंडियों में से किसी को पसंद कर लो और चोद लो।

मैंने तो झट से बोला: मेरी बीवी जिसको पसंद करेंगी, मैं उसको ही चोदूंगा।

फिर मेरी बीवी संजना ने मेरे लिए एक मस्त सी रंडी चुन के दी और राज सर मेरे बाॅस अमन सर को बोले-

राज सर: अमन तुम भी चुन लो।

अमन सर बोले: नहीं मैं तो अनुज की बीवी संजना को ही चोदूंगा। जो मज़ा अनुज की बीवी मैं है, वो इन रंडियों में कहा।

राज सर बोले: संजना तो आज पूरी रात मेरी रानी बन के सोएगी। अब तुम्हें तो सुबह ही मिलेगी।

अमन सर बोले: कोई बात नहीं, मैं इसका इंतज़ार करूँगा सर और आप की चुदाई के बाद, मैं इसको चोदूंगा।

संजना को अब हमने शराब पिलानी चालू की। सब ने 5-6 पैग मारे। मेरी बीवी और वो रंडी तो 4 पैग में ही टुल हो गई। अब मेरे बाॅस ने मेरी बीवी को बोला-

बाॅस: जान मैंने सुना है, कि तुम डांस बहुत अच्छा करती हो?

ये सुन कर मेरी बीवी मुस्कुरा दी और बोली: आप बोलिये तो मैं करके दिखा दूँ?

मेरे बाॅस बोले: हाँ ज़रूर।

फिर मेरी बीवी शराब के नशे में नाचने लगी। मैं, अमन सर, राज सर और मेरी एक रंडी, बैठ कर डांस देख रहे थे। गाना चल रहा था “राणा जी मैंनू माफ करना, ग़लती मारे से हो गई”

मेरी बीवी ने ऐसा डांस किया, कि मेरे बाॅस खुश हो गए और गए 100 की एक गड्डी मेरी बीवी को पकड़ा दी। मेरी बीवी ने पैसा मेरे को दिया और मैं समझ गया, कि अब मैं अपनी बीवी को पक्की रंडी बना सकता हूँ। क्यूंकि वो पैसा मेरे को ही देगी।

फिर बाॅस ने बोला: अनुज ज़रा अपनी बीवी को नंगी कर।

तो मैं उठा और डांस करते-करते मेरी बीवी का पहले लहंगा, फिर ब्रा, फिर पैंटी उतार दी। मैं पैंटी उतार कर फेंकने ही वाला था, कि बाॅस बोले-

बाॅस: ओए, पैंटी इधर दे। मैं भी तो देखूं, कि तेरी बीवी की चूत की खुशबू कैसी है।

मैंने पैंटी बाॅस को दी और बाॅस ने मेरी बीवी की पेटी सूंघी और अमन सर से बोले-

बाॅस: यार अमन, सच में इसकी बीवी अभी कच्ची है। साली को आज अपनी रखेल बना के चोदूंगा

अमन सर बोले: सर इसकी रसीली चूत चोदिये और चुसिये तो सही, तब पता चलेगा आपको।

अब राज सर बोले: आज ज़रा अपनी बीवी को को मेरे बाहों में ला।

तो मैं अपनी बीवी को अपने बॉस की बाहों में ले जाने लगा। अजीब सा दौर था। मैं खुद अपनी बीवी को अजनबी मर्द की बाहों में चुदने भेज रहा था। मैंने अपनी बीवी को बोला-

मैं: जा आज बाॅस को खुश कर दो।

मेरी बीवी गांड मटकाते हुए गई बाॅस की बाहों में गई और समा गई। अब मेरे बाॅस ने मेरी बीवी की चूत चाटनी चालू की और बूब्स दबाने चालू किए। मेरी बीवी आहें भरने लगी और आहहह… आहहह.. आहहह.. आहहह.. करने लगी।

अब बाॅस ने मेरी बीवी की चूत को चूस-चूस के उसकी चूत की पानी निकाल दिया। फिर मेरे बाॅस उठे और अपना लंड मेरी बीवी की मुह में डाल दिया। मेरी बीवी ने रंडियों की तरह मेरे बाॅस के लंड और लंड के नीचे के अण्डों को चूसना चालू किया। मेरे बाॅस के अण्डों को चूसने से मेरे बाॅस खुस हो गए और बोले-

बाॅस: अनुज आज ही तेरा प्रोमोशन करवाता हूँ। रंडी के पति, मेरी रखेल बन के रहेगी तेरी बीवी। आज से तू उस अमन की जगह है। साले तू आ, मेरा लंड पकड़ और अपनी बीवी की चूत में लगा।

मैं झट से गया, अपने बाॅस के लंड पकड़ा और चूसा, और अपनी बीवी की चूत मैं सेट किया। मैंने देखा, कि मेरी बीवी की चूत में लंड टाइट जा रहा था। मैं झट से गया और बैग से तेल की शीशी निकाली और अपने बाॅस के लंड पे लगाया, जिससे मेरे बाॅस का पूरा लंड मेरी बीवी की चूत में समा गया। मेरी बीवी अब दर्द के मारे चीख रही थी और मेरे बाॅस बोल रहे थे-

बाॅस: रंडी साली चुदवा कर मेरी रखेल बनके रहेगी साली। कुतिया तेरा पति मेरा गुलाम है।

मैं भी जोर से बोल पड़ा: हां सर, मैं आपका कुत्ता हूं। जब आप बोलगे मैं अपनी बीवी को कुतिया की तरह आप के बिस्तर पे लाके दूंगा। जब आप बोलोगे मेरी बीवी आपका बिस्तर गर्म करेगी।

अब बाॅस का पानी इतनी ज़ोर से मेरी बीवी की चूत में निकला, कि मेरी बीवी भी झड़ गई और बाॅस की बाहों में लिपटी के सो गई। फिर अमन सर के कहने पर राज सर ने मेरी बीवी को छोड़ा। मेरी बीवी की चूत में से राज सर का माल निकल रहा था।

तभी अमन सर बोले: अनुज जरा साफ कर ये माल। अब मैं चोदूंगा इसको।

मैंने कैसे माल साफ किया और मेरी बीवी कैसे अमन सर और होटल के मैनेजर से चुदी और कैसे उस रंडी से मेरी बीवी की दोस्ती हुई। ये सब मैं अगली स्टोरी में बताऊंगा।

अगर आप सब को ये कहानी पसंद आई हो, तो मुझे जरूर बताईएगा। मैं आपकी मेल का इंतज़ार
करूँगा। मेरी मेल आइडी है:
[email protected]